नई दिल्ली: कोरोना वायरस को मात देने के लिए अखिल भारतीय हिंदू महासभा द्वारा गौ मूत्र का प्रयोग करने पर कांग्रेस नेता अलका लांबा ने तंज कसते हुए पीएम मोदी से निवेदन किया कि सार्क देशों से मीटिंग के दौरान गौ मूत्र की बात करें। अलका लांबा ने प्रधानमंत्री से निवेदन करते हुए कहा कि गौ मूत्र के लाभ को देखते हुए मेरा देश के प्रधानमंत्री जी से निवेदन है कि आज जब सार्क देशों से बात करें तो उन्हें गौ मूत्र के सेवन की सलाह जरूर दें। साथ ही ये भी कहा कि यहीं से पता चलेगा कि वह गाय माता पर कितना विश्वास-आस्था रखते हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दक्षेस देशों के नेताओं और प्रतिनिधियों से कोरोना वायरस से निपटने के लिये संयुक्त रणनीति बनाने को लेकर संवाद किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘दक्षेस क्षेत्र में कोरोना वायरस से संक्रमण के लगभग 150 मामले आए हैं, लेकिन हमें सतर्क रहने की जरूरत है। तैयार रहें लेकिन घबराएं नहीं..यही हमारा मंत्र है।’’ उन्होंने दक्षेस देशों के नेताओं से कहा कि हमने कोरोना वायरस के फैलने के मद्देनजर मध्य जनवरी से ही भारत में प्रवेश करने वाले लोगों की जांच का काम शुरू किया था और धीरे-धीरे यात्रा पाबंदी को बढ़ाया। प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 पर कहा, ‘‘एक-एक करके उठाये गए हमारे कदमों से अफरा-तफरी से बचने में मदद मिली, संवेदनशील समूहों तक पहुंचने के लिये विशेष कदम उठाये।’’ उन्होंने कहा कि भारत ने विदेशों में अपने लोगों की आवाज पर प्रतिक्रिया दी और विभिन्न देशों से करीब 1400 लोगों को बाहर निकाला। मोदी ने कहा कि भारत ने कोरोना वायरस प्रभावित देशों से अपने पड़ोसी देशों के कुछ नागरिकों को भी बाहर निकालने में मदद की । मोदी ने शुक्रवार को कोरोना वायरस से निपटने के लिये दक्षेस देशों को संयुक्त रणनीति बनाने का सुझाव देते हुए कहा था कि दक्षेस देश उदाहरण पेश करें। उधर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के स्वास्थ्य मामलों पर विशेष सहायक जफर मिर्जा ने कहा कि कोरोना वायरस फैलने के मद्देनजर उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिये कोई भी देश मुंह नहीं मोड़ सकता है।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.