वाशिंगटन, 13 अगस्त अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेम्स सुलिवन ने कहा है कि मशहूर
लेखक सलमान रुश्दी पर जानलेवा हमले की कोशिश ‘भयावह’ एवं ‘निंदनीय’ है।
बुकर पुरस्कार से सम्मानित रुश्दी (75) शुक्रवार को पश्चिमी न्यूयॉर्क के चौटाउक्वा संस्थान में एक कार्यक्रम के
दौरान अपना व्याख्यान शुरू करने वाले ही थे कि तभी एक व्यक्ति मंच पर चढ़ा और रुश्दी को घूंसे मारे और चाकू
से उन पर हमला कर दिया। रुश्दी की गर्दन पर चोट आई है। उस समय कार्यक्रम में उनका परिचय दिया जा रहा
था।
खून से लथपथ रुश्दी को उत्तर पश्चिमी पेन्सिल्वेनिया के एक अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी सर्जरी हुई। रुश्दी
की विवादित पुस्तक ‘‘द सैटेनिक वर्सेज’’ ईरान में 1988 से प्रतिबंधित है। इसे लेकर ईरान के तत्कालीन सर्वोच्च
धार्मिक नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खमनेई ने रुश्दी को मौत की सजा दिए जाने का फतवा जारी किया था।
लेखक पर हमले के कुछ घंटे बाद सुलिवन ने कहा, ‘‘आज, देश और दुनिया ने मशहूर लेखकर सलमान रुश्दी पर
निंदनीय हमला देखा। यह हिंसक कृत्य निंदनीय है।’’
उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘बाइडन-हैरिस प्रशासन में हम सभी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे हैं।
हमले के बाद श्री रुश्दी की सबसे मदद करने पहुंचे नेकनीयत नागरिकों तथा त्वरित एवं प्रभावी कार्रवाई करने वाली
कानून प्रवर्तन एजेंसियों के प्रति हम आभारी हैं।’’
रुश्दी अभी कुछ कहने की स्थिति में नहीं हैं। लेखक के एजेंट एंड्रू विली ने न्यूयार्क टाईम्स से कहा कि ऐसी आशंका
है कि उनकी एक आंख चली जाएगी, बाह में भी चोट हैं, यकृत में चाकू से वार किया गया। रुश्दी ने ब्रिटेन में 10
साल पुलिस सुरक्षा में गुजारे। वह 2000 से अमेरिका में रह रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.