नई दिल्ली,। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा कि ड्रोन या इसी तरह के दूसरे हवाई तरीकों के जरिये ‘‘घातक हमलों’’ का मुकाबला करने के वास्ते एक रूपरेखा तैयार करने के लिए केंद्र ने विभिन्न सरकारी विभागों और मंत्रालयों की एक विशेष समिति बनाई गई है। पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (बीपीआरडी) के महानिदेशक (डीजी) वी एस के कौमुदी ने कहा कि समिति उन सभी उपलब्ध तकनीकों का अध्ययन और विश्लेषण करेगी, जिनका उपयोग मानवरहित हवाई वाहन (यूएवी) की तरह हवाई तरीके को निष्क्रिय करने या प्रभावहीन करने के लिए किया जा सकता है। समिति में नागरिक उड्डयन महानिदेशालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, गृह मंत्रालय, भारतीय वायु सेना, नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो, सीआईएसएफ और अन्य शामिल हैं। कौमुदी ने कहा कि बीपीआरडी समन्वयक है। डीजी ने कहा, ‘‘हम घातक ड्रोन और यूएवी द्वारा हमलों को विफल करने के लिए उपलब्ध तकनीकों पर चर्चा कर रहे हैं और उम्मीद है कि हम एक महीने में केंद्रीय गृह मंत्रालय को एक रिपोर्ट सौंप देंगे।’’

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.