Dutee chand

समलैंगिक रिश्ते पर बोलीं दुती चंद- रिश्ते को छुपाने से अच्छा है उसे जाहिर करना

नई दिल्ली । समलैंगिक रिश्ते का खुलासा करने वाली भारत की पहली ऐथलीट दुती चंद ने कहा कि उनके लिए रिश्ते को सर्वाजनिक करना छुपाने से बेहतर है। दुती ने मई में ओडिशा के अपने गांव की एक महिला के साथ अपने रिश्ते को सार्वजनिक करके सुर्खियां बटोरी थीं। उनके इस फैसले के बाद परिवार ने उन से नाता तोड़ने, जबकि उनकी बड़ी बहन ने अलग होने की धमकी दी थी, लेकिन दुती पर इसका कोई असर नहीं हुआ।

दुती ने उस महिला के साथ घर बसाने की इच्छा जाहिर की। अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में देश के लिए कई पदक जीतने वाली 23 साल की इस फर्राटा धावक ने कहा, ‘मेरी निजी जिंदगी के कारण अब मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं है, क्योंकि मैंने इसका खुलासा कर दिया है। दरअसल, जब तक मैंने इसे छुपा रखा था तब तक मैं डर रही थी और दबाव महसूस करती थी।’ उन्होंने कहा, ‘इस रिश्ते को सर्वाजनिक करने के बाद कई लोगों ने मुझ से बात कि और मेरा समर्थन किया। उन्होंने मेरे प्रयास की सराहना की जिससे मुझे अच्छा महसूस हुआ।’

दुती हाल ही में विश्व यूनिवर्सिटी खेलों में 100 मीटर की दौड़ में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला ट्रैक और फील्ड खिलाड़ी बनी है। पिछले महीने नपोली में हुए इन खेलों में दुती ने 11.32 सेकंड का समय निकालकर रेस जीती। वह मंगलवार से लखनऊ में खेले जाने वाले राष्ट्रीय अंतर-राज्यीय चैंपियनशिप में भाग लेंगी जहां उनका लक्ष्य अगले महीने दोहा में खेले जाने वाले विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वॉलिफाइ करना होगा। राष्ट्रीय रेकॉर्डधारी (100 मीटर की दौड़ 11.26 सेकंड में) दुती ने कहा, ‘मैं राष्ट्रीय अंतर-राज्यीय चैंपियनशिप में भाग ले रही हूं और मैं अपको भरोसा देती हूं कि आप मेरे समय में सुधार देखेंगे।’

विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वॉलिफाइंग समय 11.24 सेकंड है। दुती का लक्ष्य अगले साल तोक्यो में होने वाले ओलिंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करना है। महिलाओं के 100 मीटर रेस के लिए ओलिंपिक क्वालीफाई के लिए 11.15 सेकंड का समय रखा गया है। दुती ने कहा, ‘‘ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ करना और प्रतिस्पर्धा करना हर खिलाड़ी का सपना होता है और मैं अलग नहीं हूं। मैं निश्चित रूप से अपने देश के लिए पदक जीतना चाहूंगी और इसके लिए मेरी तैयारियां जोरों पर हैं।’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *