समझे हम आजादी को

आजादी नहीं सिखाती हमको,

सभी जगह मनमानी करना।

आजादी सिखाती है हमको,

सदैव अनुशासन में रहना।

आजादी नहीं सिखाती हमको,

मार-पीट, ईर्ष्या और झगड़ना,

आजादी सिखाती है हमको,

प्यार, मोहब्बत, हिलमिल रहना।

आजादी नहीं सिखाती हमको,

जहां चाहे कूड़ा-करकट फैलाना।

आजादी सिखाती है हमको,

दूर कर कूड़ा, स्वच्छता से रहना।

आजादी नहीं सिखाती हमको,

धरती मां का शोषण करना,

आजादी सिखाती हमको,

धरती को खूब पल्लवित करना।

मन में पहले देशप्रेम जगाएं,

और फिर गर्व से तिरंगा फहराएं।

आओ पहले समझे आजादी को, फिर आजादी का जश्न मनाएं।।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *