वीसी में प्रमुख सचिव ने दिये गम्भीरता बरतने के निर्देश

– सतर्कता से करें कोरोना से बचाव, लक्षण दिखने पर स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें- हाथ धोने की आदत को जन जन तक पहुचाएं

बुलंदशहर:- देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मरीजों के चलते इससे बचाव के लिए प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य की अध्यक्षता में गुरूवार को विडियो कॉफ्रेंस की गयी, जिसमें जिले के अधिकारियों ने भाग लिया। प्रमुख सचिव ने जिला और मण्डल स्तर पर कोरोना से बचाव को लेकर निर्देश दिये। उन्होंने सर्वप्रथम जिला और मण्डल स्तर पर टीम गठित करने के निर्देश दिये, जिसमें विभिन्न विभाग के लोग रहेंगे। जिला अस्पताल व सभी प्राइवेट अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन अस्पतालों में वेंटिलेटर की सुविधा है उनको चिन्हित कर उनकी एक लिस्ट बनाई जाए, जिससे आकस्मिक स्थिति से निपटा जा सके।जिला अधिकारी रविन्द्र कुमार ने बताया प्रमुख सचिव के निर्देश पर अमल शुरू कर दिया गया है। प्राइवेट अस्पतालों से बात करके उनके मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की सूची बनाए जाने के निर्देश दे दिये गये हैं। स्थानीय स्तर पर लोगों में हाथ धोने के संदेश को फैलाया जा रहा। स्कूलों में भी बच्चों को हाथ धोने के बारें में बताया जा रहा है, जिससे यह संदेश घर-घर तक जाए।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. केएन तिवारी ने बताया कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला अस्पताल में छह बेड आरक्षित कर विशेष वार्ड बना दिया गया है। विदेश से लौटे जिले के नागरिकों की लगातार निगरानी की जा रही है। बीते दिनों जनपद के एक परिवार के चार व्यक्तियों में लक्षण देखकर उसका सैंपल लखनऊ भेजा गया था, उसका परिणाम नकारात्मक आया है, वहीं शुक्रवार को एक और व्यक्ति का सैम्पल लखनऊ भेज गया है। फिलहाल जिले में एक भी रोगी नही है।  उन्होने बताया विदेश से आने वालों की सूची के आधार पर पहले 22 लोगों को उनके घर पर स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा गया। स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी संदिग्ध मरीजों की निगरानी में लगी है।  उन्होंने बताया विदेश से लौटने के बाद यदि किसी व्यक्ति को अचानक बुखार, खांसी और सांस लेने में परेशानी है तो उसे तत्काल जांच करानी चाहिए। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर-18001805145 (टोल फ्री) है, साथ ही 7839791647 संक्रामक रोग नियंत्रण कक्ष (कार्यालय मुख्य चिकित्सा अधिकारी) पर संपर्क करें।

क्या करें-
•  विदेश से वापस आये व्यक्ति को एक खुले हवादार कमरे में रखें और 28 दिन तक निगरानी करें।
• खांसते और छींकते समय मुंह पर कपड़ा रखें ।
• वार्तालाप करते समय उचित दूरी बना कर रखें।
• भीड़भाड़ वाले स्थान पर जाने से परहेज करें।
• मुंह और नाक को छूने से पहले हाथों की अच्छी तरह से सफाई करें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *