ben strock

हेडिंग्ले । हेडिंग्ले मैदान पर नाबाद 135 रनों की पारी खेल ऑस्ट्रेलिया के जबडे़ से जीत छीन इंग्लैंड को देने वाले हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स ने कहा है कि एशेज बचाने वाला शतक लगाना उनके लिए विशेष एहसास है। इस मैच को जीत इंग्लैंड ने एशेज सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। स्टोक्स ने इंग्लैंड को एक विकेट से अहम जीत दिला उसकी एशेज जीतने की उम्मीदों को बरकरार रखा है।

पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को जीत मिली थी तो वहीं दूसरा मैच ड्रॉ रहा था। तीसरे मैच में भी ऑस्ट्रेलिया जीत के दहलीज पर खड़ी थी, लेकिन स्टोक्स ने उसे हार की तरफ मोड़ इंग्लैंड को अभी भी सीरीज में बनाए रखा है। स्टोक्स ने कहा, ‘विकेट पर अंत तक खड़े रहना और एशेज जीतने की उम्मीदों को जिंदा रखना, यह खास एहसास है। इस तरह के पल बहुत कम आते हैं।’

इंग्लैंड का जब 9वां विकेट गिरा तब मेजबान टीम को जीतने के लिए 73 रन चाहिए थे और स्टोक्स 61 रन बनाकर खेल रहे थे। यहां से जैक लीच के साथ मिलकर स्टोक्स ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की खबर लेनी शुरू की और अपनी टीम को जीत दिलाई। कुछ दिन पहले ही स्टोक्स ने इंग्लैंड को विश्व कप फाइनल में इसी तरह रोमांचक जीत दिलाई थी।

उनसे जब पूछा गया कि क्या यह जीत विश्व कप जीत से बड़ी है? तो उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर काफी करीब है। एशेज जीतने की उम्मीदों को बरकरार रखना बेहतरीन एहसास है। अगर देखा जाए कि हम कहां थे और अब कहां हैं तो मैं इस बात से बेहद खुश हूं कि हम अभी भी सीरीज में बने रहने में सफल रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘आखिरी समय जब जा रहे थे वो समय था जब मैं सोच रह था कि एक टीम के तौर पर हमने क्या हासिल किया है। 67 रनों पर ऑल आउट होने के बाद 359 रनों के लक्ष्य को हासिल करना, यह लाजवाब है।’

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.