ajinkya-rahane

नार्थ साउंड (एंटीगा) । वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में अर्धशतक और फिर शतक लगाकर लय हसिल करने वाले भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि यह प्रदर्शन उन लोगों को समर्पित है जिन्होंने पिछले दो साल के संघर्ष के दौरान उनका साथ दिया। मैन आफ द मैच रहाणे ने दोनों पारियों में 81 और 102 रन बनाये जिससे भारतीय टीम ने इस मुकाबले को 318 रन से अपने नाम किया। रहाणे का पिछले दो साल में यह पहला टेस्ट शतक है। रहाणे ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ‘‘यह शतक खास है। हैम्पशर (इंग्लैंड काउंटी) के साथ जुड़ने से मुझे फायदा हुआ। मैं यह शतक उन सभी को समर्पित करता हूं जिन्होंने मुश्किल समय में मेरा समर्थन किया।’’ रहाणे ने पिछले 17 टेस्ट मैचों में शतक नहीं लगाया था। उन्होंने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत खेली जा रही टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच की दूसरी पारी में 242 गेंद में 102 रन के साथ टेस्ट करियर का 10वां शतक लगया। भारत ने वेस्टइंडीज की दूसरी पारी 26.5 ओवर में 100 रन पर समेट दी, जिसके बाद रहाणे ने कहा, ‘‘इससे अच्छा लग रहा है। लगभग 29-30 पारियों के बाद मैंने शतक जमाया है। मैं 70 रन के करीब पहुंच कर आउट हो रहा था लेकिन शतक लगाना काफी मायने रखता है।’’ रहाणे ने कहा कि पहली पारी में उनके 81 रन मैच की परिस्थितियों के हिसाब से काफी अहम थे। उन्होंने कहा, ‘‘20 (25) रन पर तीन विकेट गंवाने के बाद पहली पारी काफी अहम थी। हमें साझेदारी की जरूरत थी और (लोकेश) राहुल और मेरी साझेदारी महत्वपूर्ण रही। मुझे लगता है पहले दिन विकेट में नमी थी। वेस्टइंडीज ने उस सत्र में काफी अच्छी गेंदबाजी की। हमारे लिए रन के बारे में सोचे बिना अधिक से अधिक गेंद खेलना जरूरी था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम पहली पारी में लगभग 90-100 ओवर खेलना चाहते थे। हमें पता था कि ऐसा करने पर रन बनेंगे। दूसरी पारी में मैं और विराट (कोहली) बड़ी साझेदारी करना चाहते थे। हम सिर्फ बल्लेबाजी जारी रखना चाहते थे। भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच 30 अगस्त से खेला जाएगा।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.