mickeyarthur

लाहौर । आईसीसी विश्व कप के नॉकआउट स्तर तक पहुंचने में फेल होने के बावजूद मिकी आर्थर के 2020 टी-20 विश्व तक पाकिस्तान का मुख्य कोच बने रहने की संभावना है। पाकिस्तान के विश्व कप में लीग स्तर के मैचों की समााप्ति के बाद कुल 11 अंक थे। न्यूजीलैंड के भी इतने ही अंक थे, लेकिन नेट रन रेट के आधार पर वह आगे बढ़ने में कामयाब रही।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की क्रिकेट समिति दो अगस्त को विश्व कप में टीम के प्रदर्शन की समीक्षा करेगी जिसके लिए आर्थर भी लाहौर पहुंच गए हैं। समीक्षा के बाद समिति पीसीबी अध्यक्ष एहसान मानी को सिफारिशें भी करेगी। इस समिति की अध्यक्षता पीसीबी के प्रबंध निदेशक वसीम खान करेंगे और इसमें वसीम अकरम, मिस्बाह-उल-हक और उरोज मुमताज जैसे बड़े नाम भी शामिल हैं।

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने सूत्रों के हवाले से बताया कि मुख्य कोच और कोचिंग स्टाफ के चयन को लेकर चर्चा विश्व कप के समाप्त होने के बाद से ही शुरू हो गई थी।

रिपोर्ट में कहा गया कि 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी की जीत और टी-20 रैंकिंग में पाकिस्तान का शीर्ष टीम बनन आर्थर के हक में काम करेंगे। पीसीबी हर प्रारूप में अलग-अगल खिलाड़ी को कप्तान बनाने पर भी विचार कर रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि अजहर अली को टेस्ट टीम की कमान सौपी जाएगी जबकि सरफराज अहमद वनडे एवं टी-20 में टीम की कप्तानी करेंगे।

सरफराज को 2017 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीतने के बाद अजहर की जगह टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया था। प्रतिभाशाली बाबर आजम को दोनों प्रारूपों में उपकप्तान भी बनाया जा सकता है ताकि उन्हें भविष्य के लिए तैयार किया जा सके।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.