नई दिल्ली: यस बैंक मामले में राणा कपूर परिवार पर जांच एजेंसियां लगातार शिकंजा कसती जा रही हैं। राणा कपूर की बेटी रोशनी कपूर को मुंबई एयरपोर्ट पर विदेश जाने से रोक दिया गया है। वह ब्रिटिश एयरवेज से लंदन जाना चाह रही थीं। इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने राणा कपूर और उनके परिवार, जिसमें पत्नी बिंदु कपूर, बेटियां- राखी कपूर टंडन, राधा कपूर और रोशनी कपूर के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था। मतलब इनमें से कोई भी इजाजत के बगैर भारत के बाहर यात्रा नहीं कर सकते हैं।

यहां बड़ा सवाल उठता है कि अगर रोशनी कपूर के खिलाफ भी लुक आउट नोटिस पहले ही जारी हो चुका है तो वह किन हालातों में विदेश जाने की कोशिश कर रही थीं। लुक आउट नोटिस को नजरअंदाज कर विदेश जाने की कोशिश करना एक तरह से जांच से भागना है और यह बताता है कि दाल में कुछ काला है।

इधर ईडी के बाद सीबीआई ने भी राणा कपूर के खिलाफ जांच अभियान शुरू कर दिया है। उनके खिलाफ क्रिमिनल कॉन्सपिरेसी का मामला दर्ज किया गया है। सीबीआई अधिकारी इस मामले में दस्तावेज इकट्ठा कर रहे हैं। सूत्रों ने रविवार को बताया कि अधिकारियों ने इस बारे में किसी टिप्पणी से इनकार किया है, क्योंकि जांच एजेंसी किसी भी छापेमारी से पहले पूरी गोपनीयता बरतना चाहती है।

सीबीआई की जांच किस दिशा में आगे बढ़ेगी फिलहाल इसको लेकर जानकारी नहीं है, हालांकि उनके खिलाफ क्रिमिल केस दर्ज किया गया है। उनके खिलाफ कथित आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार के पहलुओं पर गौर कर रही है। एक सूत्र ने बताया कि ऐसा लग रहा है कि भ्रष्टाचार से ग्रस्त डीएचएफएल और यस बैंक के संबंधों की सीबीआई जांच कर रही है।

30 घंटे तक लंबी पूछताछ के बाद शनिवार देर रात ईडी ने राणा कपूर को गिरफ्तार कर लिया था। आज उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया गया है। रिजर्व बैंक ने एक महीने के लिए रिजर्व बैंक को मौरैटोरियम पीरियड में डाला है। इस दौरान बैंक कोई लोन नहीं बांट सकता है, ना ही पुराने लोन को रीन्यू कर सकता है। मोरैटोरियम पीरियड में कोई बैंक अपने इन्वेस्टमेंट प्लान पर भी काम नहीं कर सकता है।

हालांकि यस बैंक ने आज ट्वीट कर अपने कस्टमर्स को थोड़ी राहत दी। बैंक की तरफ से कहा गया है कि आज फिर से यस बैंक के एटीएम काम करने लगे हैं। इसके अलावा यस बैंक के ग्राहक किसी भी एटीएम में जाकर कार्ड से रुपये निकाल सकते हैं। हालांकि एक महीने में अधिकतम 50 हजार रुपये की ही निकासी की जा सकती है।

दूसरी तरफ बैंक के पुनर्गठन की प्रक्रिया पर तेजी से काम जारी है। शनिवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कहा कि वह यस बैंक का 245 करोड़ शेयर जारी करेगा, हर शेयर की कीमत 10 रुपये होगी। इस तरह वह 2450 करोड़ का फंड इकट्ठा करेगा और इसी फंड से वह यस बैंक में 49 पर्सेंट स्टेक खरीदेगा।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.