बसों, मेट्रो को नियमित आधार पर संक्रमण मुक्त करने के आदेश: केजरीवाल

नयी दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए एहतियाती कदम के तौर पर डीटीसी एवं कलस्टर बसों, मेट्रो और अस्पतालों को नियमित आधार पर संक्रमण मुक्त करने के आदेश दिए हैं। केजरीवाल ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आये हैं और एक मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस मरीजों के लिए 25 अस्पतालों में 168 पृथक बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की कि यदि उनका कोई पड़ोसी पिछले 14 दिन में विदेश से लौटा है तो उन्हें सरकार को इसकी सूचना देनी चाहिए।मुख्यमंत्री ने रविवार को राज्य कार्य बल की बैठक की अध्यक्षता की।उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है और लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘डीटीसी, क्लस्टर बसों, दिल्ली मेट्रो और अस्पतालों को प्रतिदिन संक्रमण मुक्त करने के लिए एक आदेश जारी कर दिया गया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में कोरोना वायरस के अभी तक तीन मामले सामने आये हैं। एक मामले की अभी जांच की जा रही है। मैं यह सभी से कहना चाहता हूं कि दिल्ली सरकार को इसकी चिंता है लेकिन हम इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘घबराने की कोई जरूरत नहीं है और हमें सभी के सहयोग की जरूरत है।’’ केजरीवाल ने कहा कि तीन मामलों पर गौर करने के बाद पता चला कि पहला संक्रमित व्यक्ति 105 व्यक्तियों के सम्पर्क में आया, दूसरा पिछले 14 दिनों में 168 व्यक्तियों के सम्पर्क में आया जबकि तीसरा व्यक्ति 64 व्यक्तियों के सम्पर्क में आया। उन्होंने कहा, ‘‘इन लोगों के सम्पर्क में जो भी आया है उन्हें पृथक किया जा रहा है और उनके नमूने एकत्रित करके जांच की जा रही है।’’ उन्होंने कहा कि स्वस्थ व्यक्तियों को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है और घरों पर मास्क भंडार करने की भी जरूरत नहीं है। केजरीवाल ने साथ ही लोगों से आग्रह किया कि वे अपने हाथ बार बार साबुन और पानी से धोएं। हवाई अड्डे पर सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। इस उद्देश्य के लिए हवाई अड्डों पर दिल्ली राजकीय अस्पतालों के 40 चिकित्सकों को तैनात किया गया है। हवाई अड्डों पर थर्मन स्क्रीनिंग से गुजरने वाले यात्री जब अपने घर जाते हैं, विशेष तौर पर जो दिल्ली से हैं, उन्हें 14 दिन तक निगरानी में रखा जाता है जिससे कि लक्षणों की जांच की जा सके। उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक हवाई अड्डों पर 1,40,603 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है और उन्हें निगरानी में रखा गया है।’’ केजरीवाल ने साथ ही नियोक्ताओं से अपील की कि जिन लोगों को पृथक रखा गया है उन्हें वेतन के साथ छुट्टी दें जिससे उनकी आजीविका प्रभावित नहीं हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल की स्थिति के अनुसार 25 अस्पतालों में ऐसी सुविधा है जहां कोई भी अपना नमूना दे सकता है।इन 25 अस्पतालों में से छह निजी अस्पताल हैं जबकि अन्य दिल्ली सरकार के हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम इन अस्पतालों में नमूने एकत्रित करने और इलाज के लिए अलग अलग सुविधा का इंतजाम कर रहे हैं ताकि यदि कोई मरीज वहां आता है तो वह अन्य के साथ सम्पर्क में नहीं आये।’’ केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों को होली की शुभकामनाएं देते हुए उनसे आग्रह किया कि वे स्वयं को कोरोना वायरस से बचाने के लिए भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *