इस्लामाबाद, 01 अगस्त । पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर भारतीय जवानों द्वारा कथित तौर पर ‘‘बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन’’ किये जाने की निंदा करते हुए गुरुवार को भारत के उप उच्चायुक्त को तलब किया। पाकिस्तान का कहना है कि इस तरह के कथित कदम क्षेत्रीय शांति के लिए खतरनाक हैं और ‘‘रणनीतिक गड़बड़ी’’ की स्थिति पैदा कर सकते हैं। एक सप्ताह में यह दूसरा मौका है जब पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने 30 जुलाई को नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी के लिए गौरव अहलूवालिया को तलब किया है। इस घटना में एक महिला सहित दो लोगों की मौत हो गई थी। विदेश कार्यालय ने बयान में कहा गया कि महानिदेशक (दक्षिण एशिया एवं दक्षेस) मोहम्मद फैसल (विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता) ने ‘‘अहलूवालिया को फिर से सम्मन किया और 30 जुलाई को भारतीय बलों द्वारा बिना उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन किये जाने की निंदा की।’’ बयान में कहा गया कि नियंत्रण रेखा पर नौसेरी सेक्टर में गोलीबारी में एक महिला सहित दो लोगों की मौत हो गई थी जबकि 15 अन्य घायल हुए थे। फैसल ने दावा किया कि भारतीय बल भारी हथियारों और मोर्टार से नियंत्रण रेखा और कामकाजी सीमा पर लगातार आम नागरिकों वाले क्षेत्रों को निशाना बना रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.