पेशावर, 30 जुलाई । पाकिस्तान के विभिन्न हिस्सों में लगातार बारिश से अचानक बाढ़ आने के बाद अलग-अलग घटनाओं में करीब 34 लोगों की जान चली गई। अधिकारियों ने बताया कि दक्षिणी सिंध प्रांत में भारी बारिश हुई जहां सोमवार को करीब 18 लोगों की जान चली गई। कराची में मानसून की पहली बारिश ने ही बिजली और सीवरेज व्यवस्था सहित इसके बेकार सार्वजनिक ढांचों की पोल खोल दी। पाकिस्तान के सबड़े बड़े शहर में सोमवार रात अधिकतर इलाकों में बिजली गुल थी। शहर के मध्य और पूर्वी जिले सबसे अधिक प्रभावित हैं। पाकिस्तान मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे तक और अधिक भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। कराची में हालांकि मंगलवार सुबह से बारिश नहीं हुई है। वहीं, पिछले छह दिन से लगातार हो रही बारिश ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कुछ हिस्सों में कहर बरपाया है। प्रांतीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (पीडीएमए) के प्रवक्ता ने बताया कि मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ में महिलाओं और बच्चों सहित कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई और 30 अन्य घायल हो गए। प्रवक्ता ने बताया कि बारिश के कारण 12 घर पूरी तरह से नष्ट हो गए और 25 अन्य आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए। पीडीएमए ने एक रिपोर्ट में कहा कि बारिश में 27 जानवर मारे गए हैं। प्रांत के 28 जिलों में से 10 को बारिश प्रभावित घोषित कर दिया गया है।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.