mariyam nawaz

लाहौर । पाकिस्तान की एक अदालत ने धन शोधन के एक मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज और उनके चचेरे भाई को शुक्रवार को 21 अगस्त तक देश के भ्रष्टाचार निरोधक प्राधिकरण की हिरासत में भेज दिया। मरियम और यूसुफ अब्बास शरीफ को चौधरी शुगर मिल (सीएसएम) मामले में बृहस्पतिवार को कोट लखपत जेल से गिरफ्तार किया गया। पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष उस वक्त अपने पिता से मिलकर लौट रही थीं जो इसी जेल में बंद हैं। चीनी मिल मामले में जांच के संबंध में पूछताछ के लिये उन्हें बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के समक्ष पेश होना था, लेकिन उन्होंने अपना जवाब दाखिल करने के लिये और अधिक समय देने का अनुरोध किया और इसके बजाय वह जेल में अपने पिता से मिलने चली गयीं। भ्रष्टाचार निरोधक निगरानी संस्था के समक्ष पेश नहीं होने के कारण उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की खबर के अनुसार शरीफ की बेटी और भतीजे को यहां जवाबदेही अदालत में पेश किया गया। एनएबी ने उनकी 15 दिन की हिरासत मांगी लेकिन अदालत ने दोनों आरोपियों की 12 दिन की हिरासत मंजूर की। सुनवाई शुरू होने पर जवाबदेही अदालत के न्यायाधीश नईम अरशद ने एनएबी के वकील से पूछा कि ब्यूरो ने मरियम के खिलाफ आखिर जांच क्यों नहीं शुरू की। एनएबी के वकील ने अदालत को बताया कि मरियम चौधरी शुगर मिल में शेयरधारक हैं और उन्होंने उनके सवालों के संतोषप्रद जवाब नहीं दिये। एनएबी अधिकारियों ने अदालत में सवालों की सूची पेश की और दावा किया कि पीएमएल नेता ने इनका जवाब नहीं दिया। ब्यूरो के अनुसार धन शोधन में यूसुफ के बैंक खातों का भी इस्तेमाल हुआ।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.