GDP

मुंबई । इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च ने देश की जीडीपी वृद्धि की दर चालू वित्त वर्ष में गिरकर 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है। मांग में कमी, कमजोर मानसून और विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर में नरमी इसकी मुख्य वजह रही। रेटिंग एजेंसी ने पहले जीडीपी वृद्धि दर के 7.3 प्रतिशत पर रहने की उम्मीद जताई थी। इंडिया रेटिंग्स ने रपट में कहा, ” हमने 2019-20 में देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर को 7.3 प्रतिशत से घटाकर 6.7 प्रतिशत कर दिया। यह छह साल का निम्नतम स्तर है। ” इसमें कहा गया है कि खपत मांग में नरमी, मानसून में देरी, विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि में गिरावट, समयबद्ध तरीके से मामलों को सुलझाने में दिवाला एवं ऋणशोधन अक्षमता सहिंता के नाकाम रहने से चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर वैश्विक व्यापार तनाव बढ़ने से भी निर्यात प्रभावित होगा।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.