दिल्ली हिंसा: मिठाई की दुकान में कर्मचारी के दोनों हाथ काटकर की थी हत्या, सीसीटीवी से हुई गिरफ्तार

नई दिल्ली: उत्तरपूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने अभी तक 40 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि, क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसका दंगों में सीधे शामिल होने का सबूत मिला है। क्राइम ब्रांच ने बताया कि 24 फरवरी को मिठाई की दुकान के एक कर्मचारी की हत्या के आरोप में 27 वर्षीय एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि दंगों के दौरान हुई मौत के मामलों की जांच कर रही अपराध शाखा ने दिलबर सिंह नेगी की हत्या के आरोप में शाहनवाज नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। अपराध शाखा दूसरे संदिग्धों का पता लगाने की भी कोशिश कर रही है।

क्राइम ब्रांच ने बताया कि दिलबर सिंह नेगी का क्षत-विक्षत शव 26 फरवरी को ब्रह्मपुरी में बरामद हुआ था। वह उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल का रहने वाला था और छह महीने पहले राष्ट्रीय राजधानी आया था। वह दिल्ली के उत्तरपूर्वी इलाके में एक मिठाई की दुकान पर काम करता था। क्राइम ब्रांच ने बताया कि 24 फरवरी को शिव विहार इलाके की स्वीट शॉप पर दोपहर करीब तीन बजे अचानक भीड़ जुटी और दुकान पर पथराव किया जाने लगा। यही नहीं इमारत को रात साढ़े 11 बजे आग लगा के हवाले कर दिया गया था।

बताया जा रहा कि दुकान के मालिक अनिल पाल 26 फरवरी को पुलिसकर्मियों के साथ इमारत में गए थे और वहां दूसरी मंजिल पर उन्हें नेगी का क्षत-विक्षत और जला हुआ शव मिला था। नेगी के सहकर्मियों ने बताया कि वह होली पर अपने घर जाने वाला था। क्राइम ब्रांच ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में दंगाइयों के चेहरे साफ नजर आ रहे हैं। इसी के आधार पर क्राइम ब्रांच ने दोनों हाथ काटकर बड़ी बेरहमी से मारे गए दिलबर नेगी के मामले में पहली गिरफ्तारी की है। बताया जा रहा कि दंगों से जुड़ी ये पहली गिरफ्तारी है, जिसमें सीसीटीवी कैमरे के आधार पर आरोपी को पकड़ा गया। क्राइम ब्रांच के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी शाहनवाज उर्फ शानू, शिव विहार इलाके में रहता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *