दिल्ली की वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘मध्यम’ श्रेणी में

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण मंगलवार को नाइट्रोजन ऑक्साइड जहरीली गैस में 63 प्रतिशत की कमी के साथ ‘मध्यम’ श्रेणी में रहा। सिस्टम ऑफ एयर डिस्टर्बेंस एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (एसएएफएआर) ने कहा, “पश्चिमी विक्षोभ के निकट आने के तहत, आज और कल बारिश होने की उम्मीद है। गरज के साथ-साथ आंधी आने की संभावना है।

शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक 106 पर है। हवा की गुणवत्ता पिछले सप्ताह ‘अच्छी’ श्रेणी में थी, लेकिन 6 मार्च को कोरोनावायरस संकट के खिलाफ लड़ाई में, ‘अंधेरे को चुनौती देने’ के लिए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाइट बंद करके दिया जलाने को कहा था। लेकिन लोगों ने इसे गम्भीरता से न लेते हुए पटाखे भी फोड़ने लगे, जिसके कारण हवा गुणवत्ता पर असर पड़ा।

एसएएफएआर मॉडल ने आगे सुझाव दिया कि समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक में सुधार होने की संभावना है और 8 अप्रैल को निम्न श्रेणी के ‘संतोषजनक’ या ‘अच्छी’ श्रेणी को छू सकता है। इस बीच पुणे, अहमदाबाद और मुंबई में वायु गुणवत्ता सूचकांक को क्रमश: ‘संतोषजनक’ श्रेणी में 54, 95 और 73 की गिरावट दर्ज की गई। देश भर में हवा की गुणवत्ता में सुधार को कम वाहनों के आवागमन और उद्योगों से निकलने वाले उत्सर्जन के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *