tata

नई दिल्ली, 28 जुलाई । दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सोडा राख निर्माता टाटा केमिकल्स को गुजरात में उसमू वाशिंग सोडा संयंत्र के विस्तार के लिए पर्यावरण मंजूरी मिल गई है। इसकी अनुमानित लागत 1,042.07 करोड़ रुपये है। आधिकारिक दस्तावेजों में यह जानकारी दी गई है। कंपनी देवभूमि द्वारका जिले के संयंत्र की क्षमता सालाना 10.91 लाख टन से बढ़ाकर 1.13 करोड़ टन सालाना करना चाहती है। केंद्र सरकार की एक हरित समिति ने विस्तार के प्रस्ताव की जांच और निरीक्षण कर रपट दी थी। समिति की सिफारिशों के आधार पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने विस्तार के लिए पर्यावरण मंजूरी (ईसी) दे दी है। टाटा केमिकल्स को जारी ईसी प्रमाण पत्र के मुताबिक, प्रस्तावित परियोजना को वन्यजीवों के लिहाज से जरूरी पूर्व अनुमति और कुछ अन्य शर्तों के साथ मंजूरी दे दी गई है। इसमें राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड की स्थायी समिति से मंजूरी भी शामिल है। प्रस्ताव के अनुसार, 231 एकड़ के मौजूदा संयंत्र में यह विस्तार किया जाएगा। इस परियोजना की लागत 1,042.07 करोड़ रुपये बैठने का अनुमान है। इसे पूरा होने में दो साल लगेंगे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.