तेहरान, ईरान जिब्राल्टर के तट से जब्त किए गए टैंकर को छुड़ाने के प्रयास के तहत ब्रिटिश अधिकारियों के संपर्क में है। ब्रिटिश के अधीन आने वाले क्षेत्र जिब्राल्टर ने 4 जुलाई को ब्रिटिश रॉयल मरीन की मदद से ग्रेस 1 सुपरटैंकर को इस संदेह पर जब्त कर लिया था कि यह यूरोपीय संघ के प्रतिबंधों का उल्लंघन करते हुए सीरिया को तेल पहुंचा रहा है। जिब्राल्टर की एक अदालत को गुरुवार को जहाज को लेकर फैसला करना है। सरकारी समाचार एजेंसी इरना की एक रिपोर्ट के मुताबिक ईरान के बंदरगाह प्राधिकरण के उप प्रमुख जलील इस्लामी ने कहा कि ब्रिटेन ने समस्या को हल करने में रुचि दिखाई और दस्तावेजों का आदान-प्रदान किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘ईरान और बंदरगाह संगठन की तरफ से जहाज की रिहाई के लिए प्रयास किए गए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि निकट भविष्य में इस समस्या का समाधान हो जाएगा और यह जहाज ईरानी झंडे के साथ अपनी आवाजाही जारी रख सकता है।’’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.