• दूसरे राज्यों व शहरों से गाँव लौटने वाले 14 दिन रहें क्वेरेनटाइन में
  • गाँव के बाहर स्कूल व सरकारी इमारतों में बितायें 14 दिन
  • सेहत की होगी देखभाल ताकि अपनों तक न पहुंचने पाए संक्रमण

    बुलंदशहर: कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में किये गए लाक डाउन के बीच दूसरे राज्यों और शहरों से बडी संख्या में गाँव लौटने वालों को 14 दिनों तक अपने घर-परिवार से दूर रहना चाहिए । उनसे यह बात उनके अपने और अपनों की भलाई के लिए ही की जा रही है । इसके पीछे मंशा यह है कि 14 दिनों तक उनको गाँव से बाहर स्थित स्कूल या सरकारी इमारतों में रखकर उनकी सेहत पर नजर रखी जाएगी । यदि इसबीच किसी में कोरोना वायरस के लक्षण नजर आते हैं तो उसकी जाँच और इलाज की व्यवस्था की जाएगी ताकि उनसे किसी और तक यह वायरस न पहुँचने पाए । दूसरे राज्यों से बडी संख्या में लोगों के पलायन को देखते हुए मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव द्वारा प्रदेश के हर जिलाधिकारी से कहा गया है कि बाहर से गाँव आने वालों की स्क्रीनिंग की जाए और उन्हें 14 दिनों तक क्वेरेनटाइन (घर-परिवार से अलग) में रहने को कहा जाए । इस काम में वह ग्राम प्रधानों की मदद ले सकते हैं । सभी गाँवों में ग्राम प्रधान बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालय और विद्यालय की अनुपलब्धता की दशा में अन्य शासकीय भवन अथवा कोई अन्य भवन चिन्हित कर सकते हैं । बाहर से लौटने वाले हर किसी को इसका कड़ाई से पालन करना चाहिए । यदि कोई ग्राम प्रधान की हिदायत पर बात नहीं मानता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है । कोई भी व्यक्ति किसी भी दशा में 14 दिन पूरे किये बिना ग्राम के सामान्य आबादी के साथ घुले-मिले नहीं । इस अवधि में सम्बंधित ग्राम प्रधान एवं ग्राम सचिव गाँव के कोटेदार एवं तयशुदा वेंडर जिन्हें घर-घर की डिलीवरी का दायित्व दिया गया है, उनके द्वारा इन व्यक्तियों को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित कराएँगे । आरबीएसके मोबाइल यूनिट करेगी परीक्षण : स्वास्थ्य विभाग की राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) की मोबाइल यूनिट को पुनः एक राउंड इन क्वेरेनटाइन स्थलों के भ्रमण के लिए शेड्यूल बनाकर तीन कार्यदिवस के अन्दर सभी व्यक्तियों का दोबारा लक्षण परीक्षण करना सुनिश्चित कराया जाएगा भले ही इन लोगों की एंट्री प्वाइंट पर एक बार स्क्रीनिंग हो चुकी हो । क्षेत्र के उप जिलाधिकारी (एसडीएम)/इंसिडेंट कमांडर और सम्बंधित क्षेत्र के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) भ्रमण कर इन व्यवस्थाओं का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करायेंगे । इस बारे में हर रोज शाम को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में प्रगति रिपोर्ट भी पेश करने को कहा गया है ।
  • कोरोना के बारे में अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें –
    चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, उत्तर प्रदेश – 1800-180-5145 , स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय – 011- 23978046, टोल फ्री नंबर- १०७५

———–अगर कहीं न हो आपकी सुनवाई तो हमें इस नंबर पर (7351500030) सूचना दें, आपकी हरसंभव मदद की जाएगी ।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.