child play

आजकल के बच्चों के लिए खेल का मतलब है टीवी देखना, विडियो गेम खेलना और ज्यादा से ज्यादा समय मोबाइल पर बिताना। ऐसे में पेरंट्स के लिए उन्हें ऐक्टिव रखना मुश्किल हो जाता है। पेरंट्स के लिए यह जरूरी है कि बच्चों की फिटनेस पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दें। बच्चों की फिटनेस पर किस तरह ध्यान दिया जाएं। आइए जानते हैं।

रोजाना टहलें

अपने बच्चे के साथ रोजाना टहलें। जब भी बच्चा स्कूल से आए तब उसे थोड़े से आराम के बाद किसी पार्क में टहलाने ले जाएं। इससे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा।

दिमाग की एक्सर्साइज भी है जरूरी

अपने बच्चे की दिमागी क्षमता को बढ़ाने के लिए आप उन्हें शरीर के अंगों के नाम सिखाएं और दोबारा उससे वही बोलने को कहें। इससे बच्चे की मेमरी पावर बढ़ती है।

आउटडोर गेम्स

बच्चों को आउटडोर गेम्स खेलने चाहिए। बच्चों को फ्री टाइम में क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल की आदत डलवाएं। इस खेल से फिटनेस के साथ ही साथ बच्चों की आंखों की भी एक्सर्साइज होगी और दिमाग तेज होगा।

स्किपिंग

बच्चों को शारीरिक गतिविधियां करवाएं। स्कीपिंग करने से शरीर स्ट्रेच होता है और उसमें लचीलापन आता है। अगर बच्चे शुरू से ही इसकी आदत डालें तो उन्हें हड्डी से जुड़ी बीमारियां कम होती हैं।

स्विमिंग

आमतौर पर बच्चों को पानी में खेलना पसंद होता है। बच्चों के लिए स्विमिंग बेस्ट होता है। वीकेंड में बच्चे स्विमिंग क्लास ले सकते हैं। यह सबसे अच्छी एक्सर्साइज है। इससे बॉडी फिट रहती है।

इस बात का रखें ध्यान

बच्चों पर एक्सर्साइज के लिए दबाव न बनाएं। बच्चे में हो रहे बदलाव, जैसे चिड़चिड़ापन, मांसपेशियों में दर्द होना, ज्यादा सोना या कम भूख लगना जैसी दिक्कत होने पर एक्सर्साइज के लिए जोर न दें।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.