नोएडा, एक गारमेंट कंपनी के तीन ठिकानों पर राज्य जीएसटी विभाग की
टीम ने एक साथ छापेमारी की। 26 घंटे तक चली जांच के दौरान 1.55 करोड़ रू की गड़बड़ी पकड़ी
गई। जांच टीम को कंपनी के लॉकर से 64.69 लाख रुपए भी मिले, जिसकी कंपनी के कैशबुक में
कहीं एंट्री नहीं थी। इसकी सूचना आयकर विभाग को दी गई। जीएसटी और आयकर विभाग की टीमें
देर रात तक जांच में जुटी रही।
जीएसटी विभाग के संयुक्त आयुक्त मनोज कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि शनिवार सुबह करीब 11
बजे राज्य जीएसटी विभाग के नोएडा जोन संभाग-बी की अलग-अलग जांच टीमों ने यूइंटेड एग्जिम
प्राइवेट लिमिटेड के सेक्टर 65 के बी-ब्लॉक स्थित 2 परिसरों के अलावा सेक्टर 63 के सी-ब्लॉक
स्थित एक अन्य कंपनी पर छापेमारी की। उन्होंने बताया कि दस्तावेज जांचने पर पाया गया कि
कंपनी ने 1.55 करोड़ रुपए की फर्जी आईटीसी को टैक्स देयता में समायोजित किया है। साथ ही
इनमें से एक परिसर में कंपनी अघोषित तरीके से चलाई जा रही थी।
जांच के दौरान मिले स्टॉक और रजिस्टर में मिले अंतर के आधार पर 3.25 करोड के जुर्माने का
आकलन किया गया है। 1.55 करोड़ आईटीसी को मिलाकर 4.80 करोड़ रुपए जमा करने के निर्देश
कंपनी के प्रबंधन को दिए गए हैं। विश्वकर्मा ने बताया कि कंपनी ने 2 करोड रुपए जमा करा दिए
हैं। उन्होंने बताया कि कंपनी परिसर के लॉकरों की जांच में 64.69 लाख रुपए बरामद किए गए।
इसका कैशबुक में कोई रिकॉर्ड नहीं मिलने पर जीएसटी अधिकारियों ने आयकर विभाग को जानकारी
दी। उन्होंने बताया कि रविवार की शाम को आयकर विभाग की टीम पहुंच गई और उसने बरामद
रकम को जब्त कर लिया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.