Ganguly

कोलकाता । पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने बुधवार को कहा कि टीम का कप्तान होने के नाते विराट कोहली के पास कोच चयन प्रक्रिया पर अपनी राय देने का पूरा अधिकार है। भारत के विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब होते हुए कोहली ने भारतीय मुख्य कोच के लिए रवि शास्त्री के बरकरार रहने का समर्थन किया था जिनका कार्यकाल इस हफ्ते के अंत में शुरू हो रहे वेस्ट इंडीज के दौरे के साथ ही समाप्त होगा।

गांगुली ने कोहली की वेस्ट इंडीज रवानगी से पहले सोमवार को मुंबई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में की गई टिप्पणी का जिक्र करते हुए कहा, ‘वह (विराट) कप्तान हैं। उनका इस मामले पर बोलने का पूरा अधिकार है।’ गांगुली उस क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का हिस्सा थे जिसने 2017 में रवि शास्त्री को मुख्य कोच चुना था। अन्य सदस्य सचिन तेंडुलकर और वीवीएस लक्ष्मण थे। इस बार सीएसी में कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ ओर शांता रंगास्वामी शामिल हैं जो कोच का चयन करेंगे। आवेदन भरने की अंतिम तिथि मंगलवार को समाप्त हो गई थी और शास्त्री की चयन प्रक्रिया में स्वत: ही प्रविष्टि मिल गई। कपिल की अगुआई वाली समिति ने दिसंबर में भारतीय महिला कोच डब्ल्यू वी रमन का चयन किया था। प्रतिभाशाली सलामी बल्लेबाज पृथ्वी साव के आठ महीने के निलंबन के बाद गांगुली ने कहा, ‘खांसी के लिए इस्तेमाल किए जाने में विभिन्न तरह के पदार्थ हो सकते हैं। मुझे नहीं पता कि पृथ्वी साव के मामले में क्या हुआ।’

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.