kishore-kumar

कोलकाता, 04 अगस्त । अपनी आवाज के जादू से लोगों दिलों पर राज करने वाले बॉलीवुड के मशहूर गायक किशोर कुमार की जयंती रविवार को कोलकाता में मनाई गई है. दक्षिण कोलकाता के टालीगंज स्थित किशोर कुमार की प्रतिमा के समक्ष पश्चिम बंगाल सरकार के तथ्य संस्कृति व सूचना विभाग और फेडरेशन ऑफ टेक्नीशियन एंड वर्कर्स ऑफ इंडिया के संयुक्त तत्वावधान में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस दौरान राज्य के मंत्री अरूप विश्वास मौजूद थे. उन्होंने किशोर कुमार की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. उनके साथ बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री और फिल्म तथा संगीत जगत से जुड़े कई अन्य दिग्गज मौजूद थे जिन्होंने किशोर कुमार को पुष्पांजलि अर्पित की है. कार्यक्रम में संगीत गायन भी किया गया. कई लोगों ने किशोर कुमार के गाए हुए गीतों को गाकर वहां मौजूद लोगों का मनोरंजन किया है. मंत्री ने कहा कि किशोर दा की आवाज सदाबहार थी और सदाबहार ही रहेगी. किशोर कुमार पर एक परिचर्चा का भी आयोजन किया गया था जहां उनके जीवन के कई अनछुए पहलुओं के बारे में भी जानकारी साझा की गई. किशोर कुमार ने कोलकाता निवासी रूमा गुहा ठाकुरता से शादी की थी और वह कई बार कोलकाता आ चुके थे. उनके बेटे अमित कुमार कोलकाता में कुछ सालों पहले रहते थे. एसडी बर्मन और किशोर कुमार का कोलकाता से काफी गहरा संबंध रहा है. संगीत के इन दोनों हस्तियों ने 50 से 80 के दशक में संगीत प्रेमियों के दिलों पर राज किया है. बॉलीवुड की कई ऐसी फिल्में है जिसमें एसडी बर्मन ने संगीत दिया और किशोर कुमार ने गीत गाया है. इसमें मुख्य रूप से 1951 में आई बहार फिल्म का गीत “कसूर आपका हुजूर आपका”, 1956 में फंटूश फिल्म का गीत “दुखी मन मेरे सुन मेरा कहना”, 1958 का चलती का नाम गाड़ी फिल्म का गीत “एक लड़की भीगी भागी सी” और 1971 में गैंबलर फिल्म का गाना “दिल आज शायर है गम आज नगमा है” विशेष तौर पर मशहूर है. बंगाल के इन दोनों दिग्गजों की जोड़ी ने बॉलीवुड में धमाल मचाया था. रविवार को जब किशोर कुमार की जयंती मनाई गई तो एसडी बर्मन को भी याद किया गया है.

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.