दिल्ली/शुभम अग्रवाल: चीन समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस से 3400 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। ओडिशा में कोरोना संदिग्ध एक विदेशी महिला के अस्पताल से फरार होने के बाद हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि बाद में आयरलैंड की यह महिला भुवनेश्वर के एक होटल में आराम फरमाती मिली।
गुरुवार को भुवनेश्वर के बीजू पटनायक इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर आयरलैंड से आई एक महिला में फ्लू के लक्षण दिखे। इसके बाद महिला को कैपिटल हॉस्पिटल में लाया गया। जांच के बाद आयरिश महिला को कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल के आइसोलेशन वॉर्ड रिफर कर दिया गया। अस्पताल स्टाफ इस दौरान वहां मौजूद दूसरे मरीजों की देखरेख में लग गया। इसी बीच वह हुआ जिसका किसी को अंदाजा नहीं था। जब एससीबी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने चेकअप के लिए आयरिश महिला को लाने को कहा तो वह वॉर्ड में नहीं थी। एक मरीज ने बताया कि वह हॉस्पिटल से भाग गई। यह खबर फैलते ही अस्पताल प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। इसके बाद मंगलाबाग पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गई। पुलिस ने आयरिश महिला की तलाश में अभियान चलाया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना संदिग्ध आयरिश महिला राजधानी भुवनेश्वर के एक होटल में मिली, जिसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली।

कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क कितना जरूरी? कोरोना वायरस के खौफ के चलते देश में मास्क खरीदने के लिए जबरदस्त मारामारी है। पर सवाल यह है कि हमें मास्क की जरूरत है भी या नहीं? इस विडियो में जानेंगे कि कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क पहनना कितना जरूरी है।

इससे पहले राजस्थान की राजधानी जयपुर के एक अस्पताल में कोरोना संदिग्धों को भर्ती कराने के बाद अस्पताल खाली हो गया था। राजस्थान यूनिवर्सिटी ऐंड हेल्थ साइंसेज (आरयूएचएस) हॉस्पिटल के वॉर्ड नंबर 286 में संदिग्धों को ऐडमिट किया गया था। जैसे ही इस 10 मंजिला हॉस्पिटल में यह बात फैली, सभी मरीज छुट्टी लेकर हॉस्पिटल छोड़ने लगे। जनरल वॉर्ड ही नहीं, आईसीयू के मरीज भी हॉस्पिटल में नहीं रुके।

इस बीच केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सभी राज्यों को कोरोना वायरस के चलते बड़ी सभाओं और सम्मेलनों को टालने या स्थगित करने की सलाह दी। विभिन्न नियामक संस्थाएं और संस्थान खतरनाक कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए काम कर रहे हैं। इस वायरस से देश में अब तक 31 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

सरकार की ओर से अडवाइजरी तब जारी की गई है जब Covid-19 मामलों की कुल संख्या वैश्विक स्तर पर 1 लाख को पार कर गई। दुनिया भर में कोरोना वायरस के कारण शुक्रवार तक 3,411 लोगों की मौत हो गई। हालांकि, भारत में अभी तक इस वायरस के कारण किसी की मौत होने की खबर नहीं है।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.