कोरोनावायरस की दस्तक से यूपी में मचा हड़कंप


लखनऊ/शुभम अग्रवाल: कोरोनावायरस के प्रकोप ने लगभग पूरी दुनिया को चपेट में ले लिया है। दुनिया के सभी देश इससे निपटने की कोशिश में लगे हुए हैं। वर्ष 2020 के आगाज के बाद जनवरी के अंतिम सप्ताह में खबर आई थी कि भारत में भी कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है अब देखते ही देखते यूपी में भी कोरोनावायरस ने पैर पसार लिए हैं। जयपुर में कोराना वायरस का एक संदिग्ध मरीज सामने आया है। भयानक कोरोना वायरस चीन में सैकड़ो लोगों की जान ले चुका है। खबरों के अनुसार जयपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से पीड़ित छात्र चीन में पढ़ रहा था। भारत में आने के बाद उसमें कोरोना वायरस के लक्षण देखने को मिले। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ एक तरफ कोरोनावायरस की भारत में दस्तक से लोगो में खौफ पैदा हो गया है, वहीं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  कहा है कि जनता घबराएं नहीं भारत ने कोरोनावायरस के बचाव के इंतज़ाम किये हुए है। हालाँकि कोरोना वायरस को लेकर यू पी के स्वास्थय विभागों में हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है। कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली और यूपी के लिए बुरी खबर आते ही लोगो में खौफ पैदा हो गया। यूपी के आगरा से तेज बुखार पीड़ित 6 मरीजों को कोरोना का शक होने पर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में  शिफ्ट किया गया। बताया जाता है कि आगरा में इटली से आए शख्स के संपर्क में आने पर कोरोना पीड़ित ने नोएडा के बच्चों को आगरा में पार्टी दी थी। उन सभी 6 मरीजों को सफदरजंग में गहन चिकित्सा कक्ष में रखा गया है। इसके साथ ही कोरोना वायरस को लेकर नोएडा के दो स्कूल में अलर्ट जारी कर अवकाश घोषित किया गया है। स्कूल प्रशासन ने बताया है कि स्कूल को सैनिटाइज किया जा रहा है जिस कारण स्कूल बंद किये गए है। इस बारे में गौतमबुद्ध नगर के  सीएमओ डॉ. अनुराग भार्गव और एसीएमओ डॉ. सुनील दोहरे ने मीडिया से कहा कि दिल्ली के उस शख्स (जो कोरोना वायरस से संक्रमित है) ने शुक्रवार को दिल्ली के हयात होटल में अपने बेटे की बर्थडे पार्टी 28 फरवरी को की थी। जिसमें नोएडा के दो परिवार शामिल हुए थे। यूपी की राजधानी लखनऊ से मिली रिपोर्ट के अनुसार नोएडा में अब तक 40 लोगों का टेस्ट, आगरा में 16 , बुलंदशहर में 23 लोगो के निगरानी करने पर सभी परिणाम निगेटिव मिले है। आपको बता दें कि सस्पेक्टेड पाए गए मरीजों के बाद सभी जनपदों से स्वास्थ्य अफसरों ने सैंपल लेकर जांच के लिए केजीएमसी लखनऊ भेज दिया है। हालाँकि, जांच रिपोर्ट आने तक परिवार स्वास्थ्य अफसरों की निगरानी में रहेगा। बुलंदशहर के सिकंदराबाद तहसील के एक गांव निवासी युवक दिल्ली की एक कंपनी में नौकरी करता है। जहाँ उसकी कंपनी का मालिक एक सप्ताह पूर्व यूरोप से लौटा जिसके बाद उसे कोरोना के लक्षण दिखने लगे जब उसने चेकअप कराया तो  दिल्ली में जांच के दौरान उसमें कोरोना की पुष्टि हुई, जिसे तत्काल दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां से सैंपल लेकर जांच को भेज दिया गया है। इस दौरान एहतियातन युवक के परिवार के चार सदस्यों को भी मंगलवार को जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया है। कोरोना वार्ड में भर्ती चारों सदस्यों में दो बच्चे और उनके परिजन शामिल हैं। वहीं कोरोना का असर आगरा में आने वाले पर्यटकों पर भी पड़ने लगा है। ताजमहल के दीदार के लिए चीन के पर्यटकों की संख्या पांच साल में दोगुने से भी ज्यादा हो गई थी , लेकिन कोरोना वायरस के कारण लगातार टूर कैंसिल हो रहे हैं। टूर आपरेटरों के पास धड़ाधड़ कैंसिलेशन के ई-मेल आ रहे हैं, 70 फीसदी से ज्यादा टूर प्रोग्राम आगरा में कैंसिल हो चुके हैं।

क्‍या होते हैं कोरोनावायरस के लक्षण (Coronavirus Symptoms): कोरोना वायरस के लक्षणों को आम सर्दी-जुकाम के लक्षण माना जा रहा है। हालांकि आमतौर पर कोरोना वायरस के लक्षण निमोनिया जैसे हो सकते हैं। जुखाम, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, खांसी, बुखार, सांस से जुड़ी समस्याएं, ज्यादा गंभीर मामलों में संक्रमण की वजह से निमोनिया, सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम, गुर्दे खराब होना है और दुष्परिणाम मौत तक हो सकती है। जानकारी सही से न होने की वजह है क‍ि शुरुआत‍ी लक्षण द‍िखने पर भी लोग बचाव के उपाय नहीं कर रहे हैं। यह वायरस इंसान की किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है।

अभी तक सबसे तेजी से फैलने वाला रहा कोरोनावायरस:
डब्ल्यूएचओ ने इस खतरनाक वायरस के प्रति अपनी चिंता जाहिर की है, उसके अनुसार सबसे तेजी से फैलने वाला अभी तक का वायरस यही है जिसकी रफ़्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। कई देशों में इसके मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है।  डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार साल 2012 से अब तक यूरोप और मध्य पूर्व में इस वायरस से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या 33 तक पहुंच गई है। 

सतर्क रहें, स्वस्थ रहें

कोरोना वायरस से करें बचाव:-
1-   3 से 6 फुट की दूरी बना भीड़भाड़ में चलें।
2-    बार-बार हाथ धोते रहें ताकि कीटाणु न फैलें।
3-    सार्वजनिक वाहन से यात्रा के दौरान दस्ताने पहनें।
4-    मुंह पर मास्क पहनकर रखें, नियमित बदलते रहें।
5-    भीड़भाड़ या अस्पताल वाले क्षेत्रों में जाने से बचें। 

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.