-पुलिस जगह-जगह कर रही दीप की तलाश दीपक वरुण

लखनऊ: कानपुर के बिकरू कांड के मुख्य आरोपित मुठभेड़ में मारे गए दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश पर पुलिस ने 20 हजार का इनामी घोषित किया है। उसके खिलाफ कृष्णानगर कोतवाली में जालसाजी समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है। आरोपित के लगातार फरार होने की वजह से पुलिस ने उस पर इनाम घोषित किया है। सोमवार को कृष्णानगर पुलिस ने एक बार फिर दीप प्रकाश के परिवार से नए सिरे से पूछताछ की थी। इस पर परिजन पुलिस को दीप के बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाये हैं। जबकि यह बताया जा रहा है कि विकास दुबे का भाई घटना के बाद से फरार चल रहा है। वह लखनऊ में ही कही छिपा हुआ है। पुलिस उसकी तलाश में सर्विलांस की मदद ले रही है। घर के बाहर भी सादी वर्दी में पुलिस तैनात जो हर आने जाने वाले लोगों पर नजर रख रही है। मां ने कहा बेटा कर दे आत्मसमर्पण मुठभेड़ में मारे गए विकास और दीप की मां से पुलिस ने दीप के बारे में पूछा। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि उन्हें जानकारी नहीं है कि दीप कहा है। मां ने दीप से कहा है कि पुलिस जानती है कि तुम निर्दोष हो। तुमसे सिर्फ पूछताछ होगी। घर आ जाओ बेटा पत्नी ने कहा,निर्दोष है मेेरे पति पत्नी अंजली दुबे ने दीप प्रकाश के भागने का कारण यह बताया है कि उनके पति सिर्फ़ इसलिए भागे हैं कि कहीं उनकी बात सुने बग़ैर ही गुस्से में पुलिस उन्हें कही जान से ना मार दे। इसके अलावा कोई वजह नहीं है। मेरे पति वह बिल्कुल निर्दोष है। उनका इस घटना में दूर दूर तक कोई रोल नहीं है। बेटे का कहना मेरे पापा को सुरक्षित लाओ दीप और अंजलि के एक नाबालिग बेटा भी है। पुलिस ने उससे भी पूछताछ की थी। उसने बताया कि उसके पापा की कोई गलती नहीं है। वह पुलिस से अपील करता है कि उन्हें सुरक्षित लाएं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.