ओसामा का बेटा और अलकायदा का वारिस हमजा बिन लादेन मारा गया, 10 लाख डॉलर का था ईनाम

वाशिंगटन, 01 अगस्त। ओसामा बिन लादेन का बेटा हमजा जिसे अलकायदा की लीडरशिप का वारिस चुना गया था, वह मारा गया है। अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से वहां की स्थानीय मीडिया ने यह जानकारी दी। एनबीसी ने कहा कि 3 अमेरिकी अधिकारियों ने पुष्टि की है कि उनके पास हमजा बिन लादेन के मारे जाने की सूचना थी, लेकिन उन्होंने इस घटना की तारीख और स्थान के बारे में कुछ भी नहीं बताया।

अमेरिका की द एनबीसी न्‍यूज ने तीन अधिकारियों के हवाले से लिखा कि अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को हमजा बिन लादेन के मारे जाने की सूचना मिली है। हालांकि अधिकारियों ने ये स्‍पष्‍ट नहीं किया कि उसकी मौत कहां और कैसे हुई? क्‍या उसकी मौत में अमेरिका का किसी तरह का कोई रोल है?

इसके साथ ही ये भी अभी साफ नहीं है कि क्‍या अमेरिका उसकी मौत के संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि करेगा या नहीं? जब अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप से ये पूछा गया कि क्‍या अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को हमजा के मारे जाने की सूचना है तो उन्‍होंने कहा, ”मैं इस पर कोई टिप्‍पणी नहीं करना चाहता।”

माना जाता है कि हमजा बिन लादेन पिछली बार 2018 में आखिरी बार सार्वजनिक रूप से दिखा था। उसके बारे में ये भी कहा जाता है कि वह आतंकी संगठन अल-कायदा नेता अयमान अल-जवाहिरी का संभावित उत्‍तराधिकारी था। ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद अल-कायदा की कमान जवाहिरी के पास ही मानी जाती है।

10 लाख लॉलर का था ईनाम : इस साल की शुरुआत में अमेरिका ने हमजा बिन लादेन की सूचना देने पर 10 लाख डॉलर का ईनाम देने की घोषणा की थी। इससे पहले अमेरिका ने जनवरी, 2017 में उसको ‘खासतौर पर वैश्विक आतंकी’ के रूप में घोषित किया था। उल्‍लेखनीय है कि दो मई, 2011 को पाकिस्‍तान के एबटाबाद इलाके में अमेरिकी नेवी सील के ऑपरेशन में अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन मारा गया था। अमेरिका पर 9/11 आतंकी हमले का मास्‍टरमाइंड ओसामा को माना जाता है। आतंकी हमले के बाद अमेरिका उसको खोजता रहा और 10 साल बाद 2011 में ओसामा माना गया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *