बुलंदशहर के मुस्लिम गर्ल्स डिग्री कॉलेज की छात्राओं ने राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के अन्तर्गत कोरोना वायरस के प्रति जागरूक करने के उद्देशय से पोस्टर बनाकर लोगो को अनोखे अंदाज में प्रेरित किया हैं। इसके अंतर्गत बच्चो ने कॉलेज की कार्यक्रम अधिकारी शिखा कौशिक के नेतृत्व में सोशल डिस्टेंस का प्रयोग करते हुए अपने-अपने घरो से ही कोरोना जैसी महामारी से बचाव को लेकर पोस्टर बना लोगो द्वारा खुद भी जिंदगी का महत्त्व समझने की अपील की है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस जिस तरह से लगातार पांव पसार रहा है, उसे गंभीरता से लेते हुए कॉलेज प्रशासन भी पूरी तरह अलर्ट हो गया है, कार्यक्रम अधिकारी ने छात्राओं को साफ-सफाई को लेकर व साथ ही लोगों को जागरूक करने के लिए पूरी तरह गंभीर रहने को कहा है। उन्होंने घर से ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने के लिए दिए गए विशिष्ट निर्देशों वाले पोस्टर के साथ अनूठा अभियान शुरू किया है जिसमें उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने और प्रशासन की मदद करने की भी छात्राओं को खुद व अपने परिजनों  को जागरूक रहने की अपील की हैं। बच्चो को रविवार सुबह से कोरोना वायरस से बचाव कैसे करें मुद्दे पर लिखकर तैयारी करने व पोस्टर के माध्यम से लोगो को जागरूक करने का कार्य दिया गया जिसमें इस वायरस से बचने के लिए बच्चों ने काफी चार्ट बनाए हैं । जिसमें से मुख्य रूप से कई बच्चो के बैनर पोस्टर में लिखा हुआ हैं: खुद रहें सुरक्षित, दूसरों को रखें सुरक्षित, वास्तव में क्या करना है और क्या नहीं करना है, अपने नाक-आंख-मुंह को बार-बार न छुए, समय-समय पर हाथों को धोएं, सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें, अगर किसी को खांसी जुकाम बुखार है तो उस से दो फीट की दूरी रखें , अगर कोई ऐसा मरीज दिखाई देता है जिसके संक्रमित होने का शक है तो उसे हम तुरंत डॉक्टर की सलाह दें। सभी लोग एकजुट होकर इस महामारी से लड़ें व अपने परिवारजनों  को भी समझाए कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचे। सभी पोस्टरों में से मुख्य व प्रभावशाली पोस्टर जिनके चुने गए उनमें बीए प्रथम वर्ष की छात्रा चांदनी , सलमा , सुम्मेरा व बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा फ़ाकीहा व प्राची मुख्य छात्राएं है। जिनके पोस्टरों को कॉलेज प्रशासन समेत अन्य लोगो ने भी सराहा है और काफी प्रशंसा भी की है।

कॉलेज प्राचार्य ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए सभी लोग दिन में कम से कम पांच बार हाथ धोएं और सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखे। इस प्रकार के पोस्टर के जरिये कॉलेज प्रशासन व छात्राओं द्वारा सोशल मीडिया पर भी लोगों को निरंतर जागरूक किया जा रहा है, और यह प्रयास आगे भी जारी रहेगा। पोस्टर के माध्यम से ही कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपने हाथ को साबुन-पानी या अल्कोहल युक्त हाथ से साफ रखने की सलाह भी दी गई।

कॉलेज कार्यक्रम अधिकारी शिखा कौशिक ने बताया है कि माननीय मोदी जी द्वारा किये जा रहे कोरोना से बचाव को लेकर अथक प्रयासों में सहयोग करना हमारा कर्त्तव्य है। इसलिए हमने आज रविवार को बच्चो के माध्यम से पोस्टर बनवाकर लोगो को जागरूक करने व कोरोना से बचाव सम्बन्धी जानकारी देने का प्रयास किया है। गौरतलब है कि कार्यक्रम अधिकारी के नेतृत्व में बच्चो की ओर से बनाये गए इस प्रकार के पोस्टर को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोगों में काफी उत्सुकता देखी जा रही है। शिखा कौशिक ने बच्चो द्वारा की गयी मेहनत की सराहना करते हुए कहा कि इस वायरस को लेकर लोगों में जानकारी कम और गलतफहमी अधिक देखी जा रही थी, लेकिन आज उम्मीद है कि पोस्टर के माध्यम से भ्रमित लोगो सही जानकारी प्राप्त हुई है और अन्य लोग वायरस को लेकर जागरूक होंगे। उन्होंने लोगो से अपील भी की है कि वह निम्न प्रकार की एहतियात आवश्यक बरतें:-

किसे पहनना चाहिए मास्क ?

  1. अगर आप स्वस्थ हैं तो आपको मास्क की जरूरत नहीं है ।
  2. अगर आप किसी कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति की देखभाल कर रहे हैं, तो आपको मास्क पहनना होगा ।
  3. जिन लोगों को बुखार, कफ या सांस में तकलीफ की शिकायत है, उन्हें मास्क पहनना चाहिए और तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए ।

मास्क पहनने का क्या है तरीका ?

  1. मास्क पर सामने से हाथ नहीं लगाना चाहिए ।
  2. अगर हाथ लग जाए तो तुरंत हाथ धोना चाहिए ।
  3. मास्क को ऐसे पहनना चाहिए कि आपकी नाक, मुंह और दाढ़ी का हिस्सा उससे ढका रहे ।
  4. मास्क उतारते वक्त भी मास्क की लास्टिक या फीता पकड़क कर निकालना चाहिए, मास्क नहीं छूना चाहिए ।
  5. हर रोज मास्क बदल दिया जाना चाहिए ।

कोरोना के ख़तरे को कम करने के उपाय

  1. कोरोना से मिलते-जुलते वायरस खांसी और छींक से गिरने वाली बूंदों के ज़रिए फैलते हैं ।
  2. अपने हाथ अच्छी तरह धोएं ।
  3. खांसते या छींकते वक़्त अपना मुंह ढक लें ।
  4. हाथ साफ़ नहीं हो तो आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें ।

कोरोना वायरस के लक्षण

  1. कोरोनावायरस (कोवाइड-19) में पहले बुख़ार होता है ।
  2. इसके बाद सूखी खांसी होती है और फिर एक हफ़्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है ।  
  3. इन लक्षणों का हमेशा मतलब यह नहीं है कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण है ।
  4. कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में निमोनिया, सांस लेने में बहुत ज़्यादा परेशानी, किडनी फ़ेल होना और यहां तक कि मौत भी हो सकती है ।
  5. उम्रदराज़ लोग और जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है (जैसे अस्थमा, मधुमेह, दिल की बीमारी) उनके मामले में ख़तरा गंभीर हो सकता है ।


आभार सहित एसपीएन टीम को बच्चो ने बताया, “कि हमारी शिक्षिका द्वारा की गयी यह पहल कोरोना को लेकर लोगों के मन में अलग विचार देता है और उन्हें जरूरी सावधानियां बरतने के लिए प्रेरित करता है। इस पहल ने हम सभी में एक उत्साह पैदा किया है और इससे हम सबका कोरोना से एकजुट होकर लड़ने का मकसद भी पूरा होगा।”

–अगर कहीं न हो आपकी सुनवाई तो हमें इस नंबर पर (7351500030) सूचना दें, आपकी हरसंभव मदद की जाएगी ।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.