venkaiah-naidu

पटना, 04 अगस्त । उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज आश्वासन दिया कि वह पटना विश्वविद्यालय (विवि) को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिलाने की लंबे अर्से से की जा रही मांग को पूरा कराने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे।

श्री नायडू ने यहां पटना विश्वविद्यालय के केंद्रीय पुस्तकालय के शताब्दी समारोह का उद्घाटन करने के बाद कहा कि देश के सातवें पुराने पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिलाने की मांग लंबे समय से की जा रही है लेकिन सभी को मालूम है कि वह अभी संवैधानिक पद पर हैं और यह मामला सीधे उनके दायरे में नहीं आता। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद वह केंद्र सरकार के अधिकारियों को बुलाकर बातचीत करेंगे कि कैसे पटना विश्वविद्यालय को और सुविधाएं दी जा सकती हैं ताकि यह पहले से बेहतर संस्थान के रूप में विकसित हो सके। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही वह अधिकारियों से पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिये जाने की संभावनाओं पर भी बातचीत करेंगे और इस मामले में उनका पूरा सहयोग होगा।

उप राष्ट्रपति ने कहा कि प्राचीन काल से ही बिहार दुनिया में अपनी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए जाना जाता है। यहां के नालंदा विश्वविद्यालय ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, न्यायशास्त्र, शिक्षा एवं सामाजिक आंदोलन समेत कई क्षेत्रों में राष्ट्र को उल्लेखनीय योगदान दिया है। श्री नायडू ने कहा कि पटना विश्वविद्यालय अपने स्थापना के समय से ही न केवल बिहार बल्कि देश और दुनिया के शिक्षाविदों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने 1970 के दशक के मध्य में इसी विश्वविद्यालय से छात्र आंदोलन की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के प्रथम मुख्यमंत्री बिधानचंद्र राय, समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण, अनुग्रह नारायण सिन्हा, बिहार के मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी तथा केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद इसी विश्वविद्यालय की देन हैं।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.