बरेली, जिले की नगर पंचायत सिरौली में आंबेडकर प्रतिमा लगाने के बाद हुए
बवाल पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) ने थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को लाइन
हाजिर कर दिया जबकि पुलिस अधीक्षक देहात और क्षेत्राधिकारी आंवला से जवाब तलब किया गया
है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसएसपी अखिलेश चौरसिया ने कहा कि प्रतिमा लगाने की तैयारी महीने
भर से चल रही थी। फिर भी पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। यह बहुत बड़ी लापरवाही है।
गौरतलब हैं कि क़स्बा सिरौली के साहूकारा मोहल्ले में सार्वजनिक जमीन पर रविवार रात गुपचुप ढंग
से आंबेडकर की प्रतिमा स्थापित कर दी गई थी। सोमवार को उप जिलाधिकारी आंवला और
क्षेत्राधिकारी आंवला की अगुवाई में पुलिस प्रतिमा को हटवाने पहुंची तो जमकर बवाल हुआ। महिलाओं
के पुलिस पर पथराव करने के बाद पुलिस को आंसू गैस गैस के गोले और लाठी चार्ज करके भीड़ को
तीतर बितर करना पड़ा। तब कहीं जाकर पुलिस आंबेडकर की प्रतिमा को हटा सकी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.