आंनद विहार बस अड्डे से भीड़ खत्म, बसों से भेजे गए लोग

नई दिल्ली: राजधानी के आनंद विहार बस अड्डे पर खड़ी भीड़ को हटाने का काम किया जा रहा है। लोगों को बसों पर बैठाया जा रहा है। हालांकि इन्हें कहां पहुंचाया जाएगा, इस बात की जानकारी साझा नहीं की जा रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि लोगों से घर जाने की अपील की जा रही है। लोगों को दिल्ली में उनके ठिकाने तक पहुंचाया जाएगा।

बता दें कि दिल्ली के आनंद विहार बस स्टैंड पर शनिवार सुबह से रात लाखों की संख्या में लोग जुटे रहे। देर रात तक स्टेशन पर हजारों की संख्या में लोग यूपी और बिहार के अलग अलग जिलों में जाने के लिए बसों का इंतजार कर रहे थे। बताया गया कि अधिकारी बसों का इंतजाम करने में जुटे हैं। वहां भीड़ इस कदर है कि पुलिस को व्यवस्था संभालने में पसीने छूट रहे हैं। अधिकारियों ने अनुमान लगाया है कि सुबह छह बजे से रात आठ बजे तक दिल्ली बार्डर पर यूपी गेट के रास्ते करीब पांच लाख लोगों ने दिल्ली से पलायन किया है।

मदद के लिए भारतीय रेलवे भी आगे आया

संकट की इस घड़ी में गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को भुखमरी से बचाने के लिए भारतीय रेलवे सामने आया है। रेलवे बोर्ड ने भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) को अपने बेस किचन में भोजन तैयार कर शनिवार से स्टेशनों के बाहर जरूरतमंदों में बांटने का निर्देश दिया है। इसमें रेलवे सुरक्षा बल का सहयोग लिया जा रहा है। आइआरसीटीसी के पास देशभर में 35 से ज्यादा बेस किचन हैं, जहां यह सुविधा शुरू हुई है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने चलाईं एक हजार बसें

उत्तर प्रदेश सरकार ने लोगों को उनके शहरों तक भेजने के लिए बसों की सुविधा मुहैया कराई है, लेकिन भीड़ के सामने यह व्यवस्था नाकाफी साबित हो रही है। अफसरों ने बताया कि कुल तीन हजार बसें चलाने के निर्देश हुए हैं। अभी एक हजार बसें चलाई जा रही हैं। आनंद विहार बस अड्डे के बाहर बड़ी संख्या में दिल्ली पुलिस तैनात है। इस दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ रहा है।

दिल्ली सरकार ने चलाईं 570 बसें

दिल्ली छोड़कर गांवों की ओर पैदल ही कूच कर चुके लोगों को राजधानी की सीमा तक छोड़ने के लिए दिल्ली सरकार ने शनिवार को 570 बसें चलाईं। ये बसें दिल्ली की अलग-अलग हिस्से से पैदल जा रहे लोगों को आनंद विहार छोड़ रही हैं, ताकि आगे बस पकड़कर जा सके। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने यह जानकारी दी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि लॉकडाउन का पालन करें। कोरोना के असर को कम करने का यही एक रास्ता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *