Mike-Pompeo

दोहा, । अमेरिका और तालिबानी वार्ताकारों के बीच शांति समझौते पर जल्द ही समहति बन सकती है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो के समझौता होने की उम्मीद व्यक्त करने के एक दिन बाद मंगलवार को तालिबान की ओर से यह बयान जारी किया गया है। पांचवे दिन की बातचीत के दौरान कतर से यह अच्छी खबर आई है।

तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शहीन ने पत्रकारों से कहा, ‘हमने इस दौर में प्रगति की है इसलिए हम शेष बिंदुओं को अंतिम रूप दे रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘शेष बिंदुओं को अंतिम रूप देने के बाद जल्द ही समझौता होने की उम्मीद है।’ तालिबान करीब एक साल से अमेरिका के साथ शांति वार्ता कर रहा है, जबकि उसने अफगानिस्तान सरकार को अमेरिका का पिट्ठू बताकर उसे मान्यता देने से इनकार कर दिया है।

अफगानिस्तान में 28 सितम्बर को चुनाव होनेवाले हैं, इसलिए वॉशिंगटन एक सितम्बर तक यह समझौता करना चाहता है। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप बार-बार कह चुके हैं कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी उनका उद्देश्य है। कुछ दिन पहले भी ट्रंप ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान दोनों को मिलकर अफगानिस्तान में काम करना होगा। तालिबान के साथ शांति वार्ता में प्रगति पर इसी महीने अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि हमने अच्छी तरक्की की है।। साथ ही उन्होंने कहा था कि उनके पास अफगानिस्तान के अधिकतर हिस्से को कुछ ही दिन में मिटाने की क्षमता है लेकिन वह लाखों लोगों को मारना नहीं चाहते। अमेरिकी प्रेजिडेंट ने कहा था कि हमारी तालिबान के साथ अच्छी वार्ता हो रही है।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.