ब्रासीलिया,। ब्राजील ने अमेजन वर्षावन में लगी भयावह आग को बुझाने के लिए जी7 देशों की ओर से की गई मदद की पेशकश ठुकरा दी है। ब्राजील के एक शीर्ष अधिकारी ने यह मदद अस्वीकार करते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों से कहा कि वह ‘‘अपने घर और अपने क्षेत्र’’ पर ध्यान दें। राष्ट्रपति जेयर बोल्सनारो के ‘चीफ ऑफ स्टाफ’ ओनिक्स लोरेन्जॉनी ने ‘जी1 न्यूज’ वेबसाइट से कहा, ‘‘ हम (मदद की पेशकश की) सराहना करते हैं लेकिन शायद वे संसाधन यूरोप में पुन:वनीकरण के लिए ज्यादा प्रासंगिक हैं।’’ ओनिक्स की यह टिप्पणी जी7 शिखर सम्मेलन के दौरान अमेजन वर्षावन में लगी भयावह आग को बुझाने के लिए फ्रांस की ओर से दो करोड़ अमेरिकी डॉलर की सहायता देने का संकल्प लेने के संदर्भ में थी। गौरतलब है कि फ्रांस के बिआरित्ज में सोमवार, 26 अगस्त को संपन्न हुए जी-7 शिखर सम्मेलन में इस समूह के नेताओं ने अमेजन वर्षावन में लगी आग से निपटने में ब्राजील की मदद करने का संकल्प जाहिर किया था। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा था कि शिखर सम्मेलन के नेता ब्राजील की सहायता करने के लिए एक समझौते के करीब हैं। सम्मेलन में जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा था कि आग पर काबू पाए जाने के बाद उनका देश और अन्य देश अमेजन में फिर से वन लगाए जाने पर ब्राजील से बात करेंगे। इनके अलावा पोप फ्रांसिस ने भी इस आग को लेकर चिंता जाहिर की और लोगों से प्रार्थना करने की अपील की थी ताकि ‘‘उस पर जल्दी से जल्दी काबू पा लिया जाए।’’ अमेजन वर्षा वन क्षेत्र को पृथ्वी के लिए बेहद महत्वपूर्ण बताते हुए पोप ने सेंट पीटर स्क्वायर में लोगों से कहा था कि अमेजन में लगी आग को लेकर ‘‘हम चिंतित हैं’’।

Spread the love

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.